Tuesday, 6 June 2017

Leave all on the nature quotes

Leave the dream of heaven, Leave the fear of Hell, Who knows what sin is the virtue, Just do not hurt anyone's heart For your selfishness, Leave everything else on the nature.
स्वर्ग  का  सपना छोड़  दो,
नर्क   का   डर   छोड़   दो ,
कौन   जाने   क्या   पाप  क्या   पुण्य ,
बस किसी   का   दिल   न   दुखे
अपने   स्वार्थ   के   लिए ,
बाकी   सब  कुदरत   पर   छोड़   दो.